आयुर्वेद के अनुसार यह है भीगे चने खाने का सही समय, तरीका फायदे और नुकसान

 आयुर्वेद के अनुसार यह है भीगे चने खाने का सही समय, तरीका फायदे और नुकसान

भीगे चने खाने का सही समय

दोस्तों डाइट में चने को बहुत ही ताकतवर चीज माना जाता है! कार्बोहाइड्रेट प्रोटीन विटामिन विटामिन बी जैसे कई न्यूट्रिएंट्स से भरे होते हैं! आपको जानकर हैरानी होगी छोटा सा दिखने वाला चना बॉडी को मजबूत बनाने के साथ-साथ शरीर की कई सारी प्रॉब्लम को दूर करता है |


आज हम आपको इस पोस्ट में बताएंगे कि चने को खाने से क्या-क्या फायदे और क्या नुकसान है! 1 दिन में कितना चना खाना चाहिए सुबह या शाम या फिर से पानी में भिगोकर कच्चा या अंकुरित या फिर अच्छी तरह से पका कर उबालकर खाना चाहिए! वजन को घटाने वाले या फिर वजन को बढ़ाने वाले को चना किस तरह से खाना चाहिए!

दोस्तों चने में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सबसे ज्यादा होती है! इसके साथ इसमें फोलिक एसिड, आयरन, मैग्नीज, कॉपर, जिंक और कई तरह के विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं! सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें फाइबर्स की सबसे ज्यादा मात्रा होती है! जो कार्बोहाइड्रेट को रेगुलेट करने के साथ-साथ कब्ज को दूर करती है! डाइजेशन को अच्छा करती है! किसी भी व्यक्ति में कब्ज होने का सबसे बड़ा कारण होता है उसके खाने में फाइबर की कमी होना जो चने में सही मात्रा में मौजूद होता है ! यह त्वचा और बालों के लिए सही होता है साथ ही साथ ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में भी सहायक होता है! और इसमें जो प्रोटीन होता है वह वजन घटाने और बढ़ाने में भी मदद करता है लेकिन इसके लिए जरूरी है इसका सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए!

इसे भी पढ़ें :जल्द ही इंडिया में हटेगा PUBG से बैन, ऐसे हो सकती है वापसी

अब यह जरूरी है कि चना को कच्चा पक्का या उबालकर खाना चाहिए चने को अलग अलग तरीके से खाने में उसके अलग-अलग फायदे होते हैं! भीगे हुए चने में पोषक तत्वों की मात्रा ज्यादा होती है लेकिन यह पचने में थोड़ा भारी होता है क्योंकि इसमें मौजूद फाइबर को तोड़ने में हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम को बहुत मेहनत करनी पड़ती है! अंकुरित चने में विटामिन, फाइबर, अंकुरित चने में इतना फायदा होने के बावजूद इसमें एक कमी भी पाई जाती है प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है क्योंकि इसको अंकुरित होने में लंबे समय तक भिगो के रखने में इसमें बैक्टीरिया उत्पन्न हो जाते हैं! यही वजह है कि बूढ़े बच्चे और प्रेग्नेंट महिलाओं को अंकुरित चने नहीं खाने चाहिए क्योंकि इन लोगों की इम्यूनिटी पावर कमजोर होती है! चने को उबालकर या पका कर खाने में इसमें विटामिन और प्रोटीन की मात्रा थोड़ी कम हो जाती है लेकिन या खाने में सेफ और पचने में आसान रहता है!

चने खाने का सही समय :-

अब बात आती है चने को कब खाना चाहिए और खाने का सही समय? चने को कभी भी इस्तेमाल किया जा सकता है ज्यादा बेहतर यह है कि इसे सुबह के नाश्ते में इस्तेमाल किया जाए इसे खाने के बाद कुछ भी खाने के लिए एक से डेढ़ घंटे का समय दिया जाए ताकि चना अच्छे से डाइजेस्ट हो सके और इसका पूरा फायदा मिल सके! 1 दिन में कितना चना खाना चाहिए यह उस व्यक्ति के डाइजेशन और फिजिकल हेल्थ पर निर्भर करता है! अगर आप भीगे हुए चने का इस्तेमाल करते हैं तो आपको एक मुट्ठी से ज्यादा नहीं खाना चाहिए क्योंकि पानी में भीगा हुआ चना पचने में थोड़ा भारी होता है! जिसकी वजह से गैस और कब्ज की शिकायत हो सकती है जबकि इसे उबालकर या पका कर खाने में 50 से 60 ग्राम चना का इस्तेमाल कर सकते हैं!

जो लोग जिम या एक्सरसाइज करते हैं वह अपनी जरूरत के हिसाब से सौ से डेढ़ सौ ग्राम चने का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन आपको यह बात ध्यान में रखनी है कि आप 100 से डेढ़ सौ ग्राम चने का इस्तेमाल एक साथ ना करें बल्कि इसे थोड़ा थोड़ा दो से तीन बार इस्तेमाल करें! चने में भरपूर प्रोटीन होता है जो वजन बढ़ाने में मदद करता है और मांसपेशियों के विकास में सहायक होता है! इसमें कार्बोहाइड्रेट होने के साथ-साथ फाइबर होने के कारण यह लोक रासायनिक की श्रेणी में आता है! लोक रासायनिक फूड शरीर में धीरे-धीरे ऑब्जर्व होता है इससे यह ब्लड में मौजूद शुगर और शरीर में बनी हुई चर्बी को रोकता है! अगर आप वजन घटाने की डाइट कर रहे हो तो बेहतर है कि आप 20 से 25 ग्राम चने को भिगोकर उसे चबा चबा कर खाएं! इसमें पोषक तत्व की मात्रा ज्यादा होती है जिससे या धीरे-धीरे पचने की वजह से भूख को कम करता है!

इसे भी पढ़ें :रोज सुबह उठते ही खाएं 1 कटोरी भीगे हुए चने, होंगे ये 8 फायदे

अगर कच्चा चना ठीक से नहीं पचता है और गैस की शिकायत होती है तो बेहतर है चने को उबालकर खाएं और उसे स्वादिष्ट बनाने के लिए प्याज, टमाटर, धनिया की पत्ती और चुटकी भर काला नमक डालकर खा सकते हैं जिससे स्वाद तो बढ़ता ही है और पोषक तत्व की मात्रा भी बढ़ जाती है! अगर चाहे तो भुने हुए चने को शाम को स्नेक्स के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि भुने हुए चने को छिलके के साथ ही खाएं क्योंकि सारा फाइबर इसके छिलके में होता है!

अगर आप वजन बढ़ाने के लिए डाइट फॉलो कर रहे हैं तो चने को पका कर ही खाएं ताकि वह आसानी से पच जाए! दोपहर में खाना खाने की एक से डेढ़ घंटे बाद भुने हुए चने को गुड़ के साथ खाएं जिससे आपका वजन तेजी से बढ़ेगा और आपको बहुत सारे पोषक तत्व भी मिलते रहेंगे!

cpbhaiblog